लघु उद्योगों की सूची, लघु उद्योग के नाम, लघु उद्योगों के प्रकार, आधुनिक कुटीर एवं गृह उद्योग, लघु एवं कुटीर उद्योग, लघु उद्योग के बारे में जानकारी, घरेलू उद्योग, लघु उद्योग लिस्ट, घरेलू उद्योग धंधे

%e0%a4%b2%e0%a4%98%e0%a5%81-%e0%a4%89%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97-%e0%a4%b8%e0%a5%82%e0%a4%9a%e0%a5%80-%e0%a4%b2%e0%a4%98%e0%a5%81-%e0%a4%89%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a5%8b

हर व्यक्ति अपने जीवन के एक निश्चित समय के पश्चात उस दौर में आता है जब वह पैसा कमाने लगता है  या पैसा कामना चाहता है। आजकल के युवाओ का कुछ नया करने का जुनून देखते ही बनता है। परंतु ये ज़रूरी नहीं है की हम सब नया बिज़नस शुरू करने के लिए सक्षम हो और अगर नए बिज़नस की शुरुवात कर भी लेते है, तो उसे उसी तरह से चलाये रखना भी आसान बात नहीं है। अगर कोई व्यक्ति अपना खुद का उद्योग शुरू करना चाहता है तो उसके लिए ज़रूरत होती है अच्छी प्लानिंग की और एक अच्छे आईडिया की।

लघु उद्योग (छोटे पैमाने की औद्योगिक इकाइयाँ) वे होती है जो मध्यम स्तर के विनियोग की सहायता से उत्पादन प्रारम्भ करती हैं। इन इकाइयों मे श्रम शक्ति की मात्रा भी कम होती है और सापेक्षिक रूप से वस्तुओं एवं सेवाओं का कम मात्रा में उत्पादान किया जाता है। ये बड़े पैमाने के उद्योगो से पूंजी की मात्रा, रोजगार, उत्पादन एवं प्रबन्ध, आगतों एवं निर्गतो के प्रवाह इत्यादि की दृष्टि से भिन्न प्रकार की होती है।

लघु उद्योगों के उद्देश्य:

  1. लघु उद्योगों का मुख्य उद्देश्य रोजगार के अवसरों में वृद्धि करते हुए बेरोजगारी एवं अर्ध बेरोजगारी की समस्या का समाधान करना है क्योंकि लघु उद्यमों के श्रम प्रधान होने के कारण उनमें विनियुक्त पूंजी की इकाई अपेक्षाकृत अधिक रोजगार कायम रखती है।
  2. दूसरा मुख्य उद्देश्य आर्थिक शक्ति का समान वितरण करना है। कुटीर व लघु उद्योगों से आर्थिक सत्ता का विक्रेन्द्रीयकरण होता है।
  3. आम जनता को श्रेष्ठ वस्तुएं उपलब्ध कराना इनका मुख्य उद्देश्य है।
  4. श्रम प्रधान तकनीक के कारण श्रमिकों की बहुतायत रहती है। अतः आवश्यक है कि वे औद्योगिक शांति की स्थापना करें।
  5. लघु उद्योगों के माध्यम से देश की सभ्यता एवं संस्कृति सुरक्षित रहती है। अधिकाशतः लधु उद्योगों द्वारा कलात्मक एवं परम्परागत वस्तुओं का निमार्ण किया जाता है एवं अधिकांशतः ये उद्योग श्रम प्रधान तकनीक पर आधारित होते है जिससे उद्योगों में पारस्परिक सद्भावना सहकारिता, समानता एवं भ्रातृत्व की भावना को बल मिलता है।
  6. लघु उद्योगों का मुख्य उद्देश्य है कि वे प्राकृतिक साधानों का अनुकूलतम उपयोग करें।
  7. मानवीय मूल्यों की दृष्टि से ‘सादा जीवन उच्च विचार’ की भावना का सृजन करें।
  8. व्यापार संतुलन एवं भुगतान संतुलन को अनुकूल बनाने हेतु आवश्यक है कि ये अत्याधिक विदेशी मुद्रा का अर्जन करें।
  9. भारतीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए इनका उद्देश्य अधिक से अधिक श्रेष्ठ उत्पादन करना है।

 

यहाँ हम कुछ लघु उद्योगों की सूची दे रहे है जिससे आप अपना स्वयं का व्यवसाय का शुभारंभ कम राशि में भी कर सकते है:

लेखन सामग्री का उत्पादन
(क) चॉक (Chalk)
कच्चा माल (Raw Material)
चॉक बनाने के यन्त्र
उत्पादन विधि (Manufacturing Process)
चॉक की पैकिंग
मशीन एवं उपकरण (Machinery & Equipments)
(ख) स्लेट-पेन्सिल (Slate- Pencil)
स्लेट पेन्सिल बनाने की मशीन
स्लेट पेन्सिल बनाने की विधि
मशीनरी एवं उपकरण (Machinery & Equipments)
आय-व्यय (Cost Estimation) वार्षिक: स्लेट पेन्सिल (Slate- Pencil)

(ग) पेस्टल कलर (Pastel Colours)
मोमी कलर पेस्टल

मोमों का मिश्रण
विभिन्न रंगों के पेस्टल के लिए – जिंक व्हाइट, लीथोपीन,
क्ले करल पेस्टल

(घ) दर्जियों के चॉक (Tailors Chalk)
दर्जियों के चॉक का फार्मूला
मशीनरी एवं उपकरण (Machinery & Equipments)
वित्तीय परियोजना (Cost Estimation) वार्षिक: टेलर-चॉक (Tailors Chalk)
(ङ) ऑफिस पेस्ट (Office Paste)
चिपकने वाले पदार्थ का फामॅूला
(च) ऑफिस गम (Office Gum)
मशीनरी एवं उपकरण (Machinery & Equipments)
ऑफिस पेस्ट व ऑफिस गम

वित्तीय परियोजना (Cost Estimation) वार्षिक : ऑफिस पेस्ट एवं गम

आयुर्वेदिक फार्मेसी (Ayurvedic Pharmacy)
आयुर्वेदिक औषधियों के समूह

आयुर्वेदिक औषधि बनाने की योजना
गुणवत्ता/मानक (Standard)
आधार और अनुमान
आयुर्वेदिक औषधियां निर्माण करने का लागत मूल्य (अनुमानित)

सौंदर्य व श्रृंगार प्रसाधन उद्योग
1. एम्लशन (Emulsion)
2. पाउडर (Powder)
3. स्टिक्स (Sticks)
4. केक (Cake)
5. ऑयल (Oil)
6. म्युसिलेज (Mucilage)
7. जैली (Jelly)

8. सस्पेन्शन (Suspension)
9. पेस्ट (Paste)
10. सोप (Soap)
11. घोल (Solution)

सौंदर्य प्रसाधनों का वर्गीकरण (Classification of Cosmetics)
(i) चर्म के लिए (For Skin)
(ii) बाल के लिए (For Hair)
(iii) नाखून के लिए (For Nails)
(iv) दात और मुंह के लिए (For Teeth & Mouth)
(v) बोर्डलाइन तथा किन-रेड प्रोडक्ट्

(क) फेस पाउडर (Face Powder)
कच्चा माल (Raw Materials)
उत्पादन विधि (फेस पाउडर)
सफेद फेस पाउडर बेस के फार्मूले

प्रचारित रंग-समूहों के फेस पाउडर के फार्मूले

कलर बेस फार्मूला (Colour Base Formula)
मशीनरी और उपकरण (Machiney & Equipments)
आय- व्यय योजना (Cost Estimation) वार्षिक: फेस पाउडर

 

See more

http://goo.gl/2KrF8G

http://goo.gl/b6p7bl

http://goo.gl/3857gN

http://goo.gl/gUfXbM     

http://goo.gl/Jf0264    

 

Contact us:

Niir Project Consultancy Services

106-E, Kamla Nagar, Near Spark Mall,

New Delhi-110007, India.

Email: npcs.ei@gmail.com , info@entrepreneurindia.co

Tel: +91-11-23843955, 23845654, 23845886, 8800733955

Mobile: +91-9811043595

Fax: +91-11-23841561

Website :

http://www.niir.org

http://www.entrepreneurindia.co

 

Tags

स्वरोजगार बेहतर भविष्य का नया विकल्प, अमीर बनने के तरीके, अवसर को तलाशें, आखिर गृह और कुटीर उद्योग कैसे विकसित हो, आधुनिक कुटीर एवं गृह उद्योग, आप नया करोबार आरंभ करने पर विचार कर रहे हैं, उद्योग से सम्बंधित जरुरी जानकारी, औद्योगिक नीति, कम पूंजी के व्यापार, कम पैसे के शुरू करें नए जमाने के ये हिट कारोबार, कम लागत के उद्योग, कम लागत वाले व्यवसाय, कम लागत वाले व्यवसाय व्यापार, कारोबार बढाने के उपाय, कारोबार योजना चुनें, किस वस्तु का व्यापार करें किससे होगा लाभ, कुटीर उद्योग, कुटीर और लघु उद्यमों योजनाएं, कैसे उदयोग लगाये जाये, कौन सा व्यापार करे, कौन सा व्यापार रहेगा आपके लिए फायदेमंद, क्या आप अपना कोई नया व्यवसाय, व्यापारकारोबार, स्वरोजगार, छोटा बिजनेस, उद्योग, शुरु करना चाहते हैं?, क्या आपको आर्थिक स्वतंत्रता चाहिए, क्या व्यापार करे, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों हेतु स्थापना, छोटा कारोबार शुरु करें, छोटे पैमाने की औद्योगिक इकाइयाँ, छोटे मगर बड़ी संभावना वाले नए कारोबार, छोटे व्यापार, नया कारोबार, नया बिजनेस आइडिया, नया व्यवसाय शुरू करें और रोजगार पायें, नया व्यापार, परियोजना प्रोफाइल, भारत के लघु उद्योग, भारत में नया कारोबार शुरू करना, रोजगार के अवसर, लघु उद्योग, लघु उद्योग की जानकारी, लघु उद्योग के नाम, लघु उद्योग के बारे, लघु उद्योग माहिती व मार्गदर्शन, लघु उद्योग यादी, लघु उद्योग शुरू करने सम्बन्धी उपयोगी, लघु उद्योग सूची, लघु उद्योगों का वर्गीकरण, लघु उद्योगों की आवश्यकता, लघु उद्योगों के उद्देश्य, लघु उद्योगों के प्रकार, लघु उधोग की जानकारी, लघु एवं कुटीर उद्योग, लघु कुटीर व घरेलू उद्योग परियोजनाएं, व्यवसाय लिस्ट, व्यापार करने संबंधी, व्यापार के प्रकार, सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों, स्टार्ट अप इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया, स्टार्टअप क्या है, स्टार्टअप योजना, स्वरोजगार, स्वरोजगार के अवसर, स्वरोज़गार परियोजनाएं, लघु उद्योगों की सम्पूर्ण जानकारी की किताब, सफल उद्योगों की गाइड, क्या आप खुद का बिज़नस करना चाहते हैं, लघु उद्योगों की विस्तृत जानकारी ,

Contact Form

Advertisements

11 thoughts on “लघु उद्योगों की सूची, लघु उद्योग के नाम, लघु उद्योगों के प्रकार, आधुनिक कुटीर एवं गृह उद्योग, लघु एवं कुटीर उद्योग, लघु उद्योग के बारे में जानकारी, घरेलू उद्योग, लघु उद्योग लिस्ट, घरेलू उद्योग धंधे

  1. सर्फ़ बनाने के लिए उधोग लगाने की प्रक्रिया क्या है श्रीमान
    हम बिहार से हैं।

  2. Hai sir may Sanjeet Bihar se disposal glass bane ka bijnesh karna chahte hai kya paisa or Proses kya hai bataiye please.

  3. 5लाख रुपये मे कोई अच्छा सा उद्धोग बताइये

    • Thanks for your valuable comments, queries.
      Please write your requirements to info@niir.org .
      Our team shall revert back asap with possible solutions.
      Regards……
      Team at NPCS

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s